Breaking Newsकोलकाता

गंगासागर मेला: सुरक्षा के लिए पुलिस ने जारी की निर्देशिका

कोलकाता। शहर के आउट्राम घाट पर स्थित सेवा शिविर से बड़ी संख्या में श्रद्धालु गंगासागर में पुण्य स्नान के लिए कूच करने लगे हैं। इसके मद्देनजर पुलिस ने श्रद्धालुओं के लिए विशेष तौर पर तैयार की गई निर्देशिका जारी की है। इसमें गंगासागर मेले में जाने के दौरान क्या करें और किस कार्य को करने में सावधानी बरतें, इसकी जानकारी दी गई है।

जारी निर्देशिका में श्रद्धालुओं को खास तौर पर सुरक्षा में तैनात हुए पुलिस और स्वयंसेवकों के निर्देशों का पालन करने और उनके साथ सहयोग करने का सुझाव दिया गया है। बुजुर्गों और बच्चों के प्रति सचेत रहने की सलाह दी गई है। सभी तीर्थयात्रियों को अपने पास पहचान पत्र रखने की हिदायत दी गई है, ताकि भीड़ में खो जाने की संभावना कम से कम हो। यह भी कहा गया है कि बुजुर्ग और बच्चे हमेशा समूह के साथ रहें। किसी के गुम हो जाने पर नजदीकी पुलिस हेल्पडेस्क से संपर्क करने की बात कही गई है।

इसके अलावा यात्रा के दौरान सह-यात्रियों पर विवेकपूर्ण ढंग से नजर रखने की सलाह दी गई है। घबराहट में अफवाह फैलाने के बजाय निकटतम पुलिस कर्मियों या स्वयंसेवक को सूचित करने की हिदायत दी गई है। यदि भारी वर्षा होती है, तो धैर्यपूर्वक प्रतीक्षा करें और प्रशासन के अधिकारियों के साथ सहयोग करें।

निर्देशिका में इस बात की भी विस्तार से जानकारी दी गई है कि गंगासागर मेले के दौरान सावधानी बरतते हुए श्रद्धालुओं को क्या नहीं करना चाहिए।प्रशासन ने तीर्थयात्रियों से अपील की है कि मेला परिसर में वे कुछ भी घबराहट या जल्दी में ना करें, अन्यथा दुर्घटना हो सकती है। यह जहाजों के बोर्डिंग और डी-बोर्डिंग पर भी लागू होता है। प्रशासन ने चेतावनी दी है कि एक छोटी सी गलती बड़ी त्रासदी का कारण बन सकती है।

इसके साथ ही बांस के बने बैरिकेड और ड्रॉप-गेट पर चढ़कर या उनको झुकाकर पार न करने की हिदायत दी गई है। मेला परिसर में आग न जलाने और अपनी चीजों को अज्ञात व्यक्तियों के पास में न रखने की सलाह दी गई है। इसके अलावा अनजान व्यक्तियों से खाने-पीने की किसी भी चीज से परहेज करने की हिदायत दी गई है। इसके साथ ही नहाते समय गहरे पानी में न उतरने और किसी अज्ञात या लावारिस वस्तु को न छुने का सुझाव दिया गया है। 

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *