Breaking Newsदेश

गरीबों को बेहतर जिन्दगी मेरी सरकार का सपना: मोदी

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा है कि गरीबों को बेहतर जिन्दगी उपलब्ध कराना उनकी सरकार का सपना है. श्री मोदी आज यहां ट्रेड फेसिलिटी सेन्टर, वाटर एम्बुलेंस, जल शक्ति वाहिनी और उत्कर्ष बैंक समेत करीब एक हजार करोड़ रुपये की योजनाओं का लोकार्पण कर रहे थे. प्रधानमंत्री ने कहा कि हर गरीब का सपना होता है कि उसकी भावी पीढ़ी उसकी तरह जिन्दगी न/न जिए. ठीक इसी तरह उनकी सरकार भी चाहती है कि गरीबों की अगली पीढ़ी बेहतर जिन्दगी गुजारे. वह और उनकी सरकार इसी में लगी हुई है. इसी को केन्द्र बनाकर ज्यादातर योजनाएं बनायी जा रही हैं. उन्होंने कहा कि योजनाओं का मूल आधार समाज के हर वर्ग में सशक्तिकरण लाना है. सभी समस्याओं का हल विकास बताते हुए उन्होंने कहा कि कोई भी गरीब नहीं रहना चाहता. काम मिलने का मौका मिल जाए तो गरीब, गरीब नहीं रहेगा. प्रधानमंत्री ने कहा, “किसी गरीब से यदि पूछा जाए कि क्या वह अपने बच्चों को भी गरीब रखना चाहता है. गरीब तत्काल इससे इन्कार करेगा और कहेगा कि हमारी आने वाली पीढ़ी हमारी तरह नहीं रहे. मेरी नसीब में जो था मैने भुगता लेकिन मैं नहीं चाहता कि मेरी भावी पीढ़ी ऐसी गरीबी काटे.” उन्होंने पहले की सरकारों पर कटाक्ष किया कि उन लोगों को विकास से नफरत था. सरकारी तिजोरी चुनाव जीतने में ही तबाह रहती थी. समुचित विकास होगा तभी सपने साकार होंगे और गरीबी का सशक्तिकरण होगा. प्रधानमंत्री ने कहा कि देश में हस्तकला के पारंगत कारीगरों की कमी नहीं है. हस्तकला के बेजोड़ नमूने यहां के उत्पादों में झलकते हैं मगर वैश्विक बाजार के अभाव में इन कारीगरों की माली हालत खस्ता है. इससे उनकी आर्थिक विकास की गति रूक जाती है. ट्रेड फेसिलिटी सेंटर हस्तकला के क्षेत्र में नये आयाम स्थापित करेगा. इससे कारीगरों को दुनिया भर में अपने उत्पादों के प्रचार प्रसार और बिक्री के अवसर मिलेंगे. मोदी ने कहा कि पिछले दौरों में बुनकर कहते थे कि उनके बच्चे पुश्तैनी धंधे से जुड़ना नहीं चाहते. उन्होंने चेताया कि अगर यह अमानत छूट गयी तो इतिहास माफ नहीं करेगा. प्रधानमंत्री ने कहा कि 300 करोड़ रूपये की लागत से बनी ट्रेड फैसिलिटी सेंटर सिर्फ इमारत नही है बल्कि भारत के सामर्थ्य का परिचय कराने वाली है. इस इमारत में भविष्य के नये दरवाजे खोलने की ताकत है. उन्होंने आटो टैक्सी चालकाें से आग्रह किया कि पर्यटकों को अन्य दर्शनीय स्थलों का भ्रमण कराने के साथ यहां जरूर लायें. उनका दावा है कि विदेशी सैलानी यहां से हटने का नाम नही लेगा. काशी के पर्यटन और कला कौशल को बढावा मिलेगा. वाटर एम्बुलेंस को लेकर मोदी ने कहा कि वाटर एम्बुलेंस और जल शक्ति वाहिनी का मकसद जल मार्ग को आर्थिक विकास से जोड़ना और पर्यटन गतिविधियों को बढ़ाना है. मोदी ने कहा कि वह वाराणसी और बड़ौदा दोनों जगह भारी मतों से जीते. काशी के लिये समय खपाता हूं तो जीवन का संतोष मिलता है

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *