Breaking Newsदेश

चक्रवात ‘तितली’: भूस्खलन में 12 लोगों के मरने की आशंका,

बंगाल की खाड़ी पर बन रहे दबाव की वजह से आए चक्रवाती तूफान ‘तितली’ ने भयानक रूप ले लिया. ये तूफान ओडिशा-आंध्र प्रदेश के तट पर पहुंच गया, जिससे ओडिशा के कई हिस्सों में तेज बारिश हुई. तूफान की रफ्तार इतनी ज्यादा है कि कई पेड़ उखड़ गए हैं. ओडिशा और आंध्र प्रदेश के कई इलाकों में रेड अलर्ट जारी कर दिया गया है, वहीं सैकड़ों लोगों को सुरक्षित जगह पर पहुंचा दिया गया है.

ओडिशा के मुख्य सचिव आदित्य पाधी ने सभी स्कूलों, कॉलेजों और आंगनबाड़ियों को गुरुवार और शुक्रवार को बंद रखे जाने की घोषणा की है. प्रभावित इलाकों में कुल 13 एनडीआरएफ और नौ ओडीआरएएफ की टीमें तैनात की गई हैं.

ओडिशा में चक्रवात तितली से 60 लाख लोग प्रभावित

ओडिशा में चक्रवात ‘तितली’ के कारण भारी बारिश से बाढ़ आने के कारण 60 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं और प्रदेश सरकार ने तीन जिलों में बचाव अभियान को तेज करने के लिए एनडीआरएफ और ओडीआरएएफ कर्मियों को तैनात किया है. आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि दक्षिणी ओडिशा के तीन जिलों, गंजम, गजपति और रायगढ़ा में बाढ़ की स्थिति गंभीर हैं क्योंकि प्रमुख नदियों में जलस्तर खतरे के निशान को पार कर गया है.

चक्रवात के कारण इन जिलों में तीन दिनों में सबसे ज्यादा बारिश हुई. विशेष राहत आयुक्त बी पी सेठी ने कहा कि बालासोर जिले के लोग भी बाढ़ से प्रभावित हुए हैं. राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (NDRF) और ओडिशा आपदा रैपिड एक्शन फोर्स (ODRAF) को तैनात करने का फैसला एक उच्चस्तरीय बैठक में लिया गया जहां मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने चक्रवात के बाद की स्थिति का जायजा लिया.

पटनायक ने नदी के टूटे तटबंधों की तुरंत मरम्मत पर जोर दिया और जिला कलक्टरों से राहत शिविरों में रह रहे लोगों को पका भोजन मुहैया कराने को कहा. गंजम जिले में 125 ग्राम पंचायतों के गांवों में राहत सामग्री पहुंचाने के लिए नौसेना से दो हेलीकॉप्टरों की मांग की गई है. बाढ के कारण सड़कों के डूब जाने से इन गांवों का संपर्क राज्य के बाकी हिस्से से कट गया है.

चक्रवात तितलीके कारण झारखंड में बारिश

चक्रवात ‘तितली’ के प्रभाव के कारण गुरुवार सुबह से झारखंड के कुछ जिलों में बारिश हुई. आंध्र प्रदेश और ओडिशा के बीच आए तूफान के कारण झारखंड के रांची, जमशेदपुर और ओडिशा की सीमा से लगे हिस्सों में बारिश हुई है. मौसम विभाग के अधिकारियों के मुताबिक, राज्य में पारा तीन से पांच डिग्री सेल्सियस तक नीचे गिर गया.

मौसम विभाग ने रांची, जमशेदपुर, सेराइकेला, पश्चिम सिंहभूम, खुटी और कुछ अन्य जिलों में मध्यम से भारी बारिश की चेतावनी जारी की है. देवघर, पाकुड़ और गोड्डा सहित संथाल परगना क्षेत्र के छह जिलों में बारिश हो सकती है. मौसम विभाग ने शुक्रवार को इन जिलों में 60-120 मिमी बारिश की भविष्यवाणी की है.

Tags
Show More

Leave a Reply

 Click this button or press Ctrl+G to toggle between multilang and English

Your email address will not be published. Required fields are marked *