धार्मिक खबरें

जानिए, पौष मास के खास महत्व के बारे में

हिन्दू धर्म के पंचांग के मुताबिक 10वें महीने को पौष
कहा जाता हैं। इस महीने में हेमंत ऋतु का प्रभाव बना रहता हैं। मान्यता यह है,कि इस महीने में
मुख्य रूप से सूर्य की उपासना ही फलदायी मानी जाती हैं। यह भी कहा जाता हैं, कि इस महीने सूर्य
ग्यारह हजार रश्मियों के साथ व्यक्ति को शक्ति और स्वास्थ्य प्रदान करता हैं। पौष
मास में अगर सूर्य की नियमित उपासना की जाए तो साल भर व्यक्ति स्वस्थ और संपन्न
रहेगा। वही इस बार यह पौष मास 23 दिसंबर 2018 से शुरू होकर 21 जनवरी 2019 तक रहेगा।

जानिए किस तरह करें पौष मास में सूर्य देवता
की पूजा उपासना-
 
पहले सुबह उठकर नित्य प्रात: स्नान करने के बाद सूर्य को जल
अर्पित करना चाहिए। इसके बाद ताम्बे के पात्र से जल दें। जल में रोली और लाल फूल
डालें इसके बाद सूर्य के मंत्र “ॐ आदित्याय नमः” का जाप करना चाहिए।
आपको बता दें,कि इस महीने नमक का सेवन कम से कम ही करना चाहिए।

इस महीने खान-पान में रखे ये सावधानी- 
खाने पीने में मेवे
और स्निग्ध चीजों का प्रयोग करना उचित माना जाता हैं। वही चीनी की बजाय गुड़ से
बनी चीजें खानी चाहिए। वही अजवाइन, लौंग और अदरक का सेवन भी इस माह लाभकारी माना
जाता हैं। वही इस माह में ठन्डे पानी का प्रयोग, स्नान में गड़बड़ी और अत्यधिक खाना खतरनाक
साबित हो सकता हैं।

Show More

Leave a Reply

 Click this button or press Ctrl+G to toggle between multilang and English

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button