Breaking Newsदेश

नहीं चाहिए मुझे उन लोगों से देशप्रेम का सर्टिफिकेट: कन्हैया

बेगूसराय। कन्हैया ने भाजपा को फर्जी राष्ट्रवाद वाली पार्टी बताते हुए कहा कि मुझे उन लोगों से देशप्रेम का सर्टिफिकेट नहीं चाहिए, जिनके राष्ट्रवाद में गोरखपुर में ऑक्सीजन की कमी से मरने वाले बच्चों की चिंता नहीं शामिल है। देशप्रेमी कौन हैं? वे जो भड़काऊ बयान देकर अल्पसंख्यकों के प्रति नफरत फैलाते हैं या वे जो तमाम मुश्किलों का सामना करके एकजुटता का संदेश देते हैं?

कन्हैया ने कहा कि राष्ट्रवाद मुझे अपने शहर की जर्जर सड़कों की मरम्मत करने या स्कूल-कॉलेज शुरू करने की मांग करने की सीख देता है। देशप्रेमी कौन हैं? वे जो शिक्षा, स्वास्थ्य आदि के बजट में कटौती का विरोध करते हैं या वे जो नोटबंदी जैसे फैसले से गरीबों के पेट पर लात मारकर लाखों लोगों को बेरोजगार कर चुके हैं? 

बेगूसराय के चांद भवन चकबल्ली, जगतपुरा, मीनापुर, लूचो चौक, सीतारामपुर, आकाशपुर, रामनगर, महाजी, लबहरचक, महेंद्रपुर, मीनापुर, बागडोव, सैदपुर एवं खरीदी में आयोजित जनसंपर्क कार्यक्रमों में कन्हैया ने कहा कि देश में अभी लड़ाई, पढ़ाई और कड़ाही के बीच है।

एक तरफ वे लोग हैं जो पढ़-लिखकर अपना और देश का भविष्य बनाना चाहते हैं तो दूसरी तरफ वे जो इन पढ़े-लिखे युवाओं को चंद रुपये देकर उनसे पकौड़ा तलवाना चाहते हैं। किसी इंजीनियर का मजबूरी में खलासी बनना रोजगार नहीं, बल्कि सरकारी नीतियों का अत्याचार है।

किसी भी देश के लिए यह शर्मनाक स्थिति है कि उसके युवाओं को ग्रैजुएशन या पोस्ट ग्रैजुएशन करने के बाद मजबूरी में खलासी या ट्रैकमैन की नौकरी का फॉर्म भरना पड़ता है। देश में बेरोजगारी चरम पर है, लेकिन देश को गुमराह करने की कोशिश करने वाले भाजपा के नेता कहते हैं कि देश के युवा अब नौकरी लेने वाले नहीं बल्कि देने वाले बन गए हैं। 

Show More

Leave a Reply

 Click this button or press Ctrl+G to toggle between multilang and English

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button