Breaking Newsकोलकाता

पंचायत चुनावः जीती भाजपा, सर्टिफिकेट तृणमूल को !

कोलकाता/कूचबिहारः इसे सुनने के बाद अचंभित कांड ही कहा जा सकता है. विजयी उम्मीदवार को बदल दिया गया. वहीं पराजित उम्मीदवार को विजयश्री का सर्टिफिकेट दे दिया गया. असली विजयी उम्मीदवार (भाजपा) अब अपनी जीत की तलाश में प्रशासन के दरवाजे की खाक छान रहा है.

यह घटना कुचबिहार २ ब्लाक के टैंग्टिंगगुड़ी की है. इस विषय को लेकर भाजपा नेतृत्व ने जिला प्रशासन से शिकायत की है. इससे अगर कार्य नहीं हुआ तो कानूनी राह पर चलने की भी धमकी दी गयी है. उल्लेखनीय है कि १४ मर्ई को पंचायत चुनाव संपन्न हुआ. १७ मई को मतगणना के बाद परिणाम आया. भाजपा उम्मीदवार नूपूर वर्मन व उनके काउंटिंग एजेंट को मतगणना केंद्र से बाहर निकालने का तृणमूल के खिलाफ आरोप लगाया गया.

बाद में मतगणना के बाद घोषणा की गयी कि इस सीट पर तृणमूल उम्मीदवार जयिता बर्मन विजयी हुई है. उन्हें कितने वोट मिले इसकी जानकारी उस समय नहीं मिली. आयोग की ओर से उन्हें विनिंग सर्टिफिकेट दे दिया गया. हार के बाद भी नूपूर ने उम्मीदें नहीं छोड़ी. उन्होंने तथ्यों को जुगाड़ना शुरू किया. चुनाव आयोग के वेबसाइट पर भी उन्होंने देखा. तब उन्हें पता चला कि उन्हें कुल २७७१ वोट मिला है. दूसरी ओर तृणमूल के विजयी उम्मीदवार को २६९० वोट मिले हैं.

उसके बावजूद विनिंग सर्टिफिकेट दिया गया है. इसके बाद ही ब्लाक प्रशासन में नूपूर ने शिकायत की. परंतु काम कुछ भी नहीं हुआ. इस विषय में भाजपा के कुचबिहार के जिला अध्यक्ष निखिलरंजन दे ने कहा कि प्रशासन में शिकायत की गयी है. काम कुछ भी नहीं हुआ. कुछ दिन तक और इंतजार करेंगे.

उसके बाद हम कानून का सहारा लेंगे. इधर तृणमूल ने आरोपों को मानने से इंकार किया है. तृणमूल के जिला अध्यक्ष अब्दुल जलिल अहमद ने कहा कि हमारे उम्मीदवार की जीत हुई है. इस लिए विनिंग सर्टिफिकेट दिया गया. इससे अधिक कुछ भी नहीं कहूंगा. इस सीट पर वास्तव में जीत किसकी हुई है इसके लेकर खुद  कुचबिहार २ नंबर ब्लाक के बीडीओ रिचर्ड लेपचा अंधेर में हैं. उन्होंने कहा कि कानून मान कर जयी को विनिंग सर्टिफिकेट दिया गया है. तथ्य पर उनसे प्रश्‍न किया गया कि तो वास्तव में विजयी उम्मीदवार कौन, इस भी उन्होंने चुप्पी साध ली. 

यह भी पढ़ें: मोहम्मद शमी विश्व एकादश की टीम में शामिल

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *