Breaking Newsदेश

पश्चिम बंगाल से उम्मीदवार हो सकते हैं अमित शाह

कोलकाता। साल 2019 के आम चुनाव में भाजपा की नजर विशेषकर पूर्वोत्तर के राज्यों पर है। उत्तर भारत और दक्षिण भारत के विस्तृत इलाके में कुछ सीटों की संख्या कम होने की आशंका के मद्देनजर भाजपा ने इन राज्यों में सीटों की संख्या बढ़ाने की रणनीति बनाई है। इसी लिहाज से राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने बंगाल से कम से कम 22 सीटें जीतने का लक्ष्य तय कर दिया है। अब प्रदेश भाजपा के सूत्रों के हवाले से यह जानकारी मिली है कि अमित शाह पश्चिम बंगाल की किसी सीट से चुनाव भी लड़ सकते हैं। बुधवार को इस बारे में जानकारी मिली है कि अमित शाह उत्तर कोलकाता, हावड़ा या आसनसोल में से किसी एक सीट पर चुनाव लड़ सकते हैं।

आसनसोल एक सेफ सीट है क्योंकि वहां से पहली बार ही सांसद का चुनाव लड़कर गायक से नेता बने बाबुल सुप्रियो ने 2014 के आम चुनाव में जीत दर्ज की है और आज भी उनके पक्ष में स्थिति जस की तस है। हालांकि उस समय मोदी लहर काफी जोरों पर थी। देश के अन्य हिस्सों में यह समय के साथ थोड़ी कम जरूर हुई है लेकिन पश्चिम बंगाल में भाजपा का जनाधार तेजी से बढ़ा है। वैसे भी राज्य का अपना एक इतिहास रहा है कि कोई भी व्यक्ति एक बार मुख्यमंत्री बनने के बाद लगातार जीतता है। पहले कांग्रेस, फिर 35 सालों तक माकपा और अब पिछले सात सालों से ममता बनर्जी सत्ता पर काबिज हैं। ऐसे में बंगाल फतह के लिए भाजपा के लिए बड़ी चुनौती बन गई है।

इसे हर हाल में सफल करने के लिए पार्टी ने यह रणनीति बनाई है। यहां की किसी एक सीट से अमित शाह चुनाव लड़ सकते हैं। इसमें से जिन सीटों पर चर्चा चल रही है उसमें उत्तर कोलकाता भी है। इस बारे में बताया गया है कि यह क्षेत्र बड़े पैमाने पर हिंदी भाषियों का गढ़ है। 2014 के चुनाव में तत्कालीन प्रदेश भाजपा अध्यक्ष राहुल सिन्हा ने यहां से चुनाव लड़ा था और कांग्रेस के सोमेन मित्रा तथा माकपा की रूपा बागची जैसे दिग्गज नेतृत्व को हराकर दूसरे नंबर पर चले आए थे। इस साल यहां और अधिक माहौल भाजपा के पक्ष में है और अमित शाह जैसे दिग्गज नेतृत्व के प्रार्थी बनने पर निश्चित तौर पर जीत सुनिश्चित होगी।

हालांकि इस बारे में पूछने पर प्रदेश भाजपा के एक उच्च पदस्थ नेतृत्व ने बताया कि चर्चा तो बहुत कुछ है लेकिन इस पर अभी तक अंतिम सहमति नहीं बनी है। बातचीत चल रही है। केंद्रीय नेतृत्व की ओर से जो भी तय किया जाएगा, उसे माना जाएगा। उल्लेखनीय है कि लोकसभा चुनाव से पहले इस बार पश्चिम बंगाल के लिए बड़ी रणनीति बनाते हुए भाजपा ने सभी 42 लोकसभा केंद्रों में रथ यात्रा के जरिए जनसंपर्क अभियान योजना बनाई है 

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *