Breaking News

पार्थ ने मुकुल को बताया बलि का बकरा

कोलकाता । यदि कोई बलि का बकरा बनना चाहता है तो हम क्या कर सकते हैं। ऐसे में बलि तो चढ़ाना ही होगा। भाजपा नेता मुकुल राय का नाम न लेते हुए तृणमूल कांग्रेस के महासचिव व शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी ने उनपर कुछ इसी तरह से कटाक्ष किया।

पंचायत चुनाव को लेकर गुरुवार से ही मुकुल और चटर्जी के बीच वार-पलटवार चल रहा है, जो कि  जारी रहा। चटर्जी ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि राज्य की जनता का ममता बनर्जी पर अटूट भरोसा है। मुख्यमंत्री ने ग्रामीण जनता के हित में जो काम किया है, उससे पंचायत चुनाव में फिर से तृणमूल कांग्रेस का जीतना निश्चित है।

विरोधी दलों द्वारा बार-बार तृणमूल पर हिंसा का आरोप लगाये जाने पर पार्थ ने कहा कि विपक्षी दलों का कोई जनाधार नहीं है। इसलिए हताश होकर वे मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और सरकार को बदनाम करने के लिए हिंसा को अंजाम दे रहे हैं। भाजपा और माकपा मिलकर हिंसा फैला रही है और आरोप तृणमूल पर लगा रही है।

इससे उन्हें कोई लाभ नहीं होने वाला है। जनता इसका जवाब उन्हें देगी हमे कुछ कहने की जरूरत ही नहीं है। भाजपा और माकपा दोनो ही हताश है। वास्तव में उन्हें समझ ही नहीं आ रहा कि वे करें तो क्या करें। चटर्जी ने विपक्षी दलों के उम्मीदवारों के नामांकन नहीं जमा करने के आरोप को निराधार बताते हुए कहा कि विपक्षी दलों के नेता धरना-प्रदर्शन में ही लगे रहेंगे तो उनका नामांकन कोई दूसरा नहीं जमा करेगा। 

यह भी पढ़ें: थम नहीं रहा चीन-अमेरिका का तनाव

 

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *