Breaking Newsकोलकाता

बंगाल: इस महीने मोदी तो अगले सप्ताह शाह

कोलकाताः चारों ओर विजयी ध्वज लहरा रहा है. हालांकि पांच राज्य में सूनामी के बाद नरेंद्र मोदी-अमित शाह की जोड़ी की नजर अब बंगाल पर है. बंगाल पर कब्जा करने के लिए लोकसभा चुनाव के लिए अपना गेम प्‍लान भाजपा ने तैयार कर लिया है. २०१६ में भी कोशिश की गयी थी पर उसमें कामयाबी नहीं मिली. इसलिए इस बार पिछली गलती से सबक लेते हुए बंगाल पर कब्जा करने में भाजपा का शीर्ष नेतृत्व कोई गलती नहीं करेगा.

बंगाल पर कब्जा करने के लिए धर्मीय मेरुकरण का रास्ता छोड़ कर अब बार बार सभा कर जनमत गठन करने के उपर ही भगवा खेमा जोर दे रहा है. भाजपा सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक अभी तक जो तय है उसके अनुसार लोकसभा चुनाव के पहले राज्य में १३ सभाआें को नरेंद्र मोदी संबोधित करेंगे. इसमें से पांच सभाएं उत्तर बंगाल में आयोजित होगी.

राज्य भाजपा चाहती है कि लोकसभा चुनाव के पहले इस महीने मोदी तो अगले महीने अमित शाह बंगाल आये. पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व ने इस परिकल्पना पर मुहर भी लगा दी है. भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष का कहना  है कि एक महिने के अंतराल पर किसी एक राज्य में प्रधानमंत्री जा रहे हैं स्वतंत्रता के बाद ऐसी घटना बंगाल में पहली बार घटने जा रही है. सोमवार को मिदनापुर में मुख्यमंत्री जनसभा को संबोधित करेंगे. सितंबर में प्रधानमंत्री उत्तर बंगाल एवं अगस्त अमित शाह की कोलकाता में सभा करने की बात है.

दिलीप घोष ने कहा कि बारीश के कारण कार्यक्रमों की घोषणा नहीं की जा रही है. पर चुनाव के पहले केवल उत्तर बंगाल में ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पांच सभाआें को संबोधित  करेंगे. दिलीप घोष ने कहा कि बारीश अथवा बाढ़ जैसी कोई आपदा घटने पर, कार्यक्रम में परिवर्तन हो सकता है. ऐसा न होने पर प्रत्येक माह के अंतराल पर अध्यक्ष व प्रधानमंंत्री बंगाल में सभा को संबोधित करेंगे.

उल्लेखनीय है कि जून महीने में ही बंगाल में अमित शाह ने पैर रखा था. पहले हावड़ा के शरत सदन में पार्टी के सोशल मी़ड़िया सेल के साथ उन्होंने बैठक की. बाद में राज्य चुनाव कमिटी के साथ बैठक की.

पुरुलिया की सभा से शाह ने स्पष्ट तौर पर अपने मन की बात कही. पार्टी कर्मियों को संदेश देते हुए उन्होंने कहा  कि २०१९ के लोकसभा चुनाव में ५० फिसदी हमें चाहिए. उल्लेखनीय है कि गत पंचायत चुनाव में पुरुलिया में भाजपा ने अपनी जमीन काफी मजबूत कर ली है. इसलिए जोर से बंगाल की मिट्टी पकड़ कर भाजपा ने स्वपन देखना शुरू कर दिया है. पर देखना यह है कि मोदी शाह वास्तव में कितना बाजी मार सकती है. 

यह भी पढें: 16 को मेदनीपुर में जनसभा करेंगे प्रधानमंत्री

Tags
Show More

Leave a Reply

 Click this button or press Ctrl+G to toggle between multilang and English

Your email address will not be published. Required fields are marked *