Breaking Newsकोलकाता

बाजार में हरे और भगवा रंग के अबीर की मांग आसमान पर

किस ओर घूमेगी करवट ?’ टिकीं निगाहें

कोलकाताः चुनाव परिणाम के ट्रेंड को समझने  में बृहस्पतिवार दोपहर तक का समय लग जायेगा ऐसा विशेषज्ञों का मानना है. जबकि आयोग की ओर परिणाम को घोषणा होने में शुक्रवार यानी २४ तारीख हो सकता है. परंतु इसके पहले अबीर के बाजार में भगवा और हरे रंग की लड़ाई शुरू हो गयी है. अबीर नाम लेने पर हमारे जहन में होली की तस्वीरें आ जाती है. अब अबीर केवल होली खेलने अथवा पटाखें केवल दिपावली के ही फोड़े जाते हैं ऐसा नहीं है.

लोकतंत्र के इस वृहत्तम उत्सव चुनाव के साथ भी अबीर खेलना और पटाखे फोड़ने का विधान है. मतगणना शुरू होते ही पार्टी के उम्मीदवार जब जीत की ओर बढ़ते हैं, तभी कर्मी समर्थकों में अबीर खेलने का सिलसिला शुरू हो जाता है. अंतिम परिणाम की घोषणा के बाद विजयी पार्टी द्वारा अबीर खेलना एक राजनीतिक ट्रेडिशन में बदल गया है. विधानसभा चुनाव से पंचायत चुनाव तक किसी भी चुनाव में अबीर खेलने की तस्वीर में कोई बदलाव नहीं हुआ.

बृहस्पतिवार को लोकसभा चुनाव का नतीजा आने के उपलक्ष्य में अबीर खरीदने का दौर शुरू हो गया है. राज्य सत्ता परिवर्तन के बाद परिणाम घोषणा के पहले प्रत्येक बार हरे रंग की अबीर काफी तेजी से बिकती थी. पर इस बार की तस्वीर कुछ अन्य है. इस बार लड़ाई हरे वनाम भगवे रंग की है. यह कहना गलत ने होगा कि अबीर के बाजार में भी हरे और भगवे रंगों के बीच कांटे की टक्कर चल रही है.बड़ाबाजार के चक्कर मारने पर देखने को मिला कि भगवे रंग की अबीर की बिक्री में भी तेजी आयी है.

३२० रुपये प्रति किलो भगवा अबीर बिक रहा है. दुकानदारों का कहना है कि अचानक भगवे रंग के अबीर की  मांग बढ़ गयी है. हरे रंग की अबीर भी टक्कर दे रहा है. हरे रंग के अबीर की कीमत भी ३२० रुपया प्रति किलो बिक रहा है. जानकारी लेने पर पता चला कि शुरुआती के दिनों में हरे रंग के अबीर की बिक्री अधिक थी. परंतु एक्जिट पोल की समीक्षा के सामने आते ही तस्वीर कुछ बदली  है. एक ही झटके में भगवे रंग के अबीर की बिक्री में काफी तेजी आयी है.

उल्लेखनीय है कि एक्जिट पोल की समीक्षा में ३०० से अधिक सीटों के साथ मोदी सरकार को फिर से सत्ता में आने के संकेत दिये गये हैं. अखिल भारतीय संस्थान की समीक्षा में बंगाल में भाजपा के सीटों में काफी बढ़त दिखायी गयी है.इस परिस्थिति में अबीर की बिक्री में दोनों पक्षों के बीच कांटे के लड़ाई देखने को मिल रही है.

इससे यह भी समझना चाहिए कि बंगाल में भी इस बार लोकसभा चुनाव में कांटे की टक्कर होने जा रही है. दुकानदारों का कहना है कि हावड़ा, मिदनापुर से लोग आकर भगवा रंग की अबीर खरीद रहे हैं. लाल रंग के अबीर का क्या हाल है,लाल अबीर की मांग उस प्रकार की नहीं है.  रिजल्ट के ट्रेंड को समझने  में कई घंटे बाकी है. पर खरीद बिक्री को लेकर पल्ला जिस ओर भी झूके पर आखिरकार किस रंग की अबीर से आकाश सराबोर होगा यह तो बृहस्पतिवार को ही पता चलेगा.  

 
Tags
Show More

Leave a Reply

 Click this button or press Ctrl+G to toggle between multilang and English

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button