Breaking Newsकोलकाता

बड़ाबाजार में लगातार चोरी से व्यापारियों में आतंक

चोर अब तक पुलिस की गिरफ्त से बाहर

कोलकाताः राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी बड़ाबाजार के व्यापारियों और उनकी सुरक्षा के लेकर काफी गंभीर है. यह बात उन्होंने बड़ाबाजार मेंआयोजित अपनी सभी के दौरान कई बार कही भी है. जबकि बड़ाबाजार के रामसेवक मल्लिक लेन के व्यापारियों के हालात ठीक इसके विपरीत है. इस स्थान पर करीब ५०० दुकानें हैं.

पिछले ५-६ महीनों से यहां हो रही लगातार चोरी से दुकानदारों में आतंक है. मिली जानकारी के अनुसार चोरी घटना की जानकारी दुकानदारों तब मिली जब १३७ नेताजी सुभाष रोड स्थित विनोद खारा के दुकान से पूजा की छुट्टियों के दौरान कैश बाक्स से १२ हजार रुपये चुरा लिय गया. इस प्रकार की घटना ४.११.१८ तथा ५ नवंबर को घटी. चोरी से परेशान दुकानदारों ने सीसीटीवी कैमरा भी मकान में लगाया था. दिनांक ७ नवंबर को सीसीटीवी में चोरी को चोरी करते देख उसे चिन्हित किया गया.

इसके बाद १० नवंबर को भी चोरों ने शेख शाहजहान केदुकान से ५५ किलों प्‍लास्टिक की चोरी की. आश्‍चर्य की बात यह है कि चोर ताला खोलने के बाद उसे लगा भी देते थे. उनकी पहचान हावड़ा के शिवपुर लिचू बागान इलाके अमीन अली, मंसूर अली के रुप में हुर्ई हैै जो यहां १३५ नंबर मकान में काम करता है.

दुकानदारों का आरोप है कि जब वे इन्हें पकड़ कर थाने ले गये तो थाने की ओर से इन पर कारर्र्वाई नहीं की गयी. सब्यसाची मंडल नामक दुकानदार ने आरोप है कि जब वे इस मामले को लेकर थाना पहुंचे तो वहां तैनात अधिकारी ने उनके साथ दुर्व्यवहार किया और उल्टा उन्हें धमकी दी. दुकानदारों के कहना है कि चोरों का एक गिरोह है जो संयुक्त रूप से काम करता है. उन्होंने यह भी बताया कि हम मेहनत करते हैं, सरकार को टैक्स देते हैं पर हमारी सुरक्षा कहां है. इस घटना को लेकर व्यापारी काफी  आतंकित है. इस विषय की व्यापारियों ने कोलकाता पुलिस आयुक्त, संयुक्त पुलिस आयुक्त (आपराध) तथा पब्लिक शिकायक सेल (पी.जी सेल) को भी  पत्र लिख कर अवगत कराया है. 

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *