Breaking Newsकोलकाता

भाटपाड़ा हिंसा : भाजपा ने राज्यपाल से की हस्तक्षेप की मांग

कोलकाता। चुनाव संपन्न होने के बाद उत्तर 24 परगना के भाटपाड़ा विधानसभा इलाके में लगातार हो रही हिंसा को लेकर भाजपा की पश्चिम बंगाल इकाई ने राज्यपाल से हस्तक्षेप की मांग की है। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष के नेतृत्व में प्रदेश उपाध्यक्ष जयप्रकाश मजूमदार, राजू बनर्जी और अन्य सदस्यों के एक प्रतिनिधिमंडल ने राजभवन में राज्यपाल से मुलाकात की हैै।

भाजपा प्रतिनिधिमंडल ने राज्य के हिंसक हालात के लिए सत्तारूढ़ तृणमूल को जिम्मेवार ठहराया है और राज्यपाल से कानून व्यवस्था को बहाल करने के लिए हस्तक्षेप करने की मांग की है। राजभवन से बाहर निकले प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने मीडिया से बात की। उन्होंने कहा कि चुनाव खत्म हो जाने के बाद जिस तरह से भाटपाड़़ा विधानसभा क्षेत्र में सत्तारूढ़ तृणमूल के लोगों ने हिंंसा की है, वह भयावह है। भाजपा कार्यकर्ताओं को मारा-पीटा गया है, उनके घरों में आग लगा दी गई है, उनकी गाड़ियों को जला दिया गया है।

कई लोग घर छोड़कर भागने के लिए मजबूर हैं, महिलाओं को मारा-पीटा जा रहा है और राज्य पुलिस इस हिंसा में मदद कर रही है। उन्होंने कहा कि बार-बार पुलिस के पास शिकायत दर्ज कराने के बाद भी कोई फायदा नहीं हुआ है इसलिए हमलोगों ने राज्यपाल से हस्तक्षेप की मांग की है। इसकी जानकारी चुनाव आयोग को भी दी गई है।

दिलीप घोष ने चेतावनी देते हुए कहा कि भाजपा के कार्यकर्ताओं को डरा-धमका कर नहीं रखा जा सकता। अगर तृणमूल हिंसा पर उतारू है तो भाजपा चुप नहीं बैठेगी, जैसा देवता वैसी पूजा देने के लिए हम लोग भी तैयार हैं। उन्होंने कहा कि क्षेत्र में कानून व्यवस्था बहाल होनी चाहिए। इसके लिए भाजपा कोशिश कर रही है। 

उन्होंने कहा कि न केवल उत्तर 24 परगना बल्कि दक्षिण 24 परगना के डायमंड हार्बर संसदीय क्षेत्र के नोगाखली में भी भाजपा कार्यकर्ताओं के घरों पर हमले किए गए हैं। घरों में आगजनी हुई है और कार्यकर्ताओं को मारा-पीटा गया है। इस तरह बजबज, बांकुड़ा और हुगली में भी भाजपा कार्यकर्ताओं को जबरदस्ती मारा-पीटा जा रहा है। तृणमूल के इशारे पर पुलिस वाले बेवजह कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर झूठे मामले में फंसा रहे हैं। उन्होंने साफ किया कि अगर हिंसा नहीं थमी तो भाजपा कार्यकर्ता चुप नहीं बैठेंगे।

Show More

Leave a Reply

 Click this button or press Ctrl+G to toggle between multilang and English

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button