Breaking Newsकोलकाता

ममता की ब्रिगेड रैली में आएंगे शत्रुघ्न सिन्हा और राम जेठमलानी

कोलकाता। राज्य में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस ने महारैली को सफल बनाने के लिए युद्धस्तर पर तैयारियां शुरू कर दी है। महारैली को सफल बनाने के लिए इसमें अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा और अधिवक्ता राम जेठमलानी भी शिरकत करेंगे। तृणमूल के एक उच्च पदस्थ सूत्र ने  यह जानकारी दी।  

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी आगामी लोकसभा चुनाव में भाजपा को कड़ी टक्कर देने में कोई कसर नहीं छोड़ रही हैं। इसके लिए आगामी 19 जनवरी को कोलकाता के सबसे बड़े मैदान ब्रिगेड परेड ग्राउंड में पार्टी की महारैली आयोजित की गई है। इसमें भाजपा विरोधी सभी गुटों को आमंत्रित किया गया है

। विपक्षी नेताओं ने आने की सहमति जरूर दी है। राज्य भर में इसके लिए बैठकें और जनसभाएं हो रही हैं। सीपीआई ने सभी भाजपा विरोधी दलों की इस मेगा रैली में भाग लेने से इनकार कर दिया है। नेशनल कॉन्फ्रेंस (नेकां) के शीर्ष नेताओं फारूक अब्दुल्ला, उमर अब्दुल्ला, डीएमके अध्यक्ष एमके स्टालिन, दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) सुप्रीमो शरद पवार ने इसमें आने की सहमति दे दी है।

भाजपा नेता शत्रुघ्न सिन्हा और जाने माने वकील राम जेठमलानी ने भी पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री के निमंत्रण को स्वीकार कर लिया है।
इनके अलावा 19 जनवरी की ब्रिगेड रैली में समाजवादी पार्टी के सुप्रीमो अखिलेश यादव की भी भागीदारी होगी। इस बीच, बहुजन समाज पार्टी प्रमुख मायावती को इस संबंध में निर्णय लेना बाकी है। दोनों नेताओं ने हाल ही में आम चुनाव के लिए महत्वपूर्ण राज्य उत्तर प्रदेश में गठबंधन पर सहमति व्यक्त की है। इस लिहाज से माना जा रहा है कि 19 जनवरी की कोलकाता रैली में ममता के साथ मायावती भी मंच साझा कर सकती हैं।

अब देखने वाली बात होगी कि इसमें ममता की कोशिशों को कितना अधिक मूर्त रूप दिया जाता है। महारैली को लोकसभा चुनाव से पहले संभावित महाविपक्षी एकता के लिए एक लिटमस टेस्ट के रूप में देखा जा रहा है। 

इधर भाजपा ने भी इस महारैली का जवाब देने की तैयारी कर ली है। ममता की महारैली से पहले 16 जनवरी को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की सिलीगुड़ी में जनसभा होगी। शाह 23 या 24 जनवरी को कोलकाता में भी जनसभा कर सकते हैं। इसके बाद 29 जनवरी को इसी ब्रिगेड परेड मैदान में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जनसभा प्रस्तावित है। इसमें भाजपा ने तृणमूल की तुलना में अधिक लोगों को एकत्रित करने का दावा ठोका है।

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *