Breaking NewsStateदेश

मेरा आशीर्वाद अखिलेश के साथ है : मुलायम

समाजवादी पार्टी (सपा) के संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने एक बार फिर अपने छोटे भाई शिवपाल यादव के सियासी मनसूबों पर पानी फेर दिया है। मुलायम के सोमवार को लोहिया ट्रस्ट में प्रेस कान्फ्रेंस के दौरान नई पार्टी के ऐलान की अटकलें लगायी जा रही थीं। शिवपाल खेमा इससे बेहद उत्साहित था, लेकिन जब मुलायम मीडिया से रूबरू हुए तो उन्होंने अखिलेश को कोसा तो जरूर लेकिन नई पार्टी बनाने से इनकार कर दिया।
इसके बाद जिस तरह से पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने पिता के समर्थन में ट्वीट किया, उससे कई सवाल खड़े हो गये हैं। मुलायम की प्रेस कान्फ्रेंस के बाद अखिलेश ने अपने आधिकारिक ट्विटर एकाउंट से ट्वीट किया, ‘‘नेताजी ज़िंदाबाद समाजवादी पार्टी ज़िंदाबाद।’’ इससे साफ जाहिर हो रहा है कि मुलायम के पार्टी नहीं बनाने के ऐलान से अखिलेश बेहद खुश हैं।
मुलायम ने भले ही अखिलेश के खिलाफ कठोर शब्द इस्तेमाल किये हों, लेकिन जिस तरह से उन्होंने कहा, ‘‘अखिलेश मेरे बेटे हैं, इसलिए मेरा आशीर्वाद उनके साथ है, लेकिन मैं अखिलेश के कई फैसलों से सहमत नहीं हूँ।’’ उसने सपा मुखिया को बेहद राहत प्रदान की है।
वास्तव में इसे मुलायम की सियासत का हिस्सा बताया जा रहा है। मुलायम ने कहा कि अखिलेश ने मुझसे तीन माह का समय मांगा था, लेकिन उसने पिता की नहीं सुनी। जो वादा नहीं पूरा कर सकता वह कभी भविष्य ने सफलता नहीं पा सकता। देश के एक बड़े नेता ने पहले ही कह दिया कि जो बाप का नहीं वह देश का क्या होगा। दरअसल सियासत में पलटी मारने के लिए प्रसिद्ध मुलायम का ये एक दांव माना जा रहा है क्योंकि एक प्रेस रिलीज सामने आयी है, जिसमें लिखी बातों को अगर सही माने तो मुलायम नई पार्टी बनाने का ऐलान करने वाले थे। इसमें एक वर्ष से लगातार उन्हें अकारण अपमानित करने, प्रदेशीय सम्मेलन में आमंत्रित नहीं करने जैसे शब्दों का इस्तेमाल किया गया है।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *