Breaking Newsदेश

म्यांमार और संयुक्त राष्ट्र के बीच सहमति, लौटेंगे सभी रोहिंग्या

न्ययॉर्क। संयुक्त राष्ट्र संघ और म्यांमार के बीच गुरुवार को हुए एक समझौते के अनुसार बांग्लादेश से सभी सात लाख शरणार्थी ससम्मान स्वदेश लौटेंगे। इसके लिए म्यांमार सरकार और संयुक्त राष्ट्र की दो एजेंसियों ने पारस्परिक सहयोग की एक रूपरेखा तैयार की है।

संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी एजेंसी ने एक वक्तव्य में कहा है कि शरणार्थियों के लिए इस समय स्वेच्छा से अपने-अपने घर लौटने की स्थितियां उचित नहीं हैं। इस संबंध में अगले सप्ताह एक ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए जाने की उम्मीद है।

इस ज्ञापन के अनुसार, म्यांमार सरकार को अपेक्षित क़दम उठाने के लिए सहयोग की ज़रूरत पड़ेगी। इस कार्य में राखिनी स्टेट में मौजूदा समुदायों को तैयार करना होगा ताकि पारस्परिक सहयोग से अनुकूल परिस्थितियां बनाई जा सकें। 

म्यांमार और बांग्लादेश सरकार के बीच इस तरह का एक समझौता गत नवम्बर में भी हुआ था लेकिन तब रोहिंग्या शरणार्थियों ने अपने-अपने घर वापस लौटने के लिए एक अन्तरराष्ट्रीय पर्यवेक्षक की ज़रूरत पर बल दिया था ताकि उसकी निगाह में कुशलक्षेम के साथ वापसी संभव हो सके।

 

इसके लिए संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम और संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद की देखरेख में शरणार्थियों की वापसी संभव हो सकेगी। इसके लिए म्यांमार सरकार से इन दोनों संयुक्त राष्ट्र एजेंसियों को मदद देने का आग्रह किया गया है।

यह भी पढें: मनिकयम’ का नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *