Breaking News

म्यांमार पर दबाव बनाए भारतः शेख हसीना

कोलकाता। शुक्रवार को कोलकाता पहुंची बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने रोहिंग्याओं की वापसी के मुद्दे पर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर माहौल बनाने में भारत से मदद मांगी है। संवाददाताओं से बात करते हुए उन्होंने कहा कि रोहिंग्याओं की वापसी के लिए भारत को म्यांमार पर दबाव बढ़ाना चाहिए ताकि वे अपने देश लौट सकें। 

कवि गुरु रवींद्रनाथ टैगोर द्वारा पश्चिम बंगाल के शांतिनिकेतन में स्थापित विश्वभारती विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में भाग लेने पहुंची बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना की मुलाकात भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से हुई।

इस मौके पर शेख हसीना ने कहा कि मैं रोहिंग्याओं की वापसी के लिए म्यांमार पर दबाव बनाने के लिए अपका समर्थन चाहती हूं। रोहिंग्या विद्रोही हमलों के जवाब में म्यांमार की सैन्य कार्यवाही से बचने के लिए लगभग 700,000 रोहिंग्या मुसलमान म्यांमार से भाग कर बांग्लादेश में शरण लिये हुए हैं।

शरणार्थियों ने म्यांमार सैनिकों द्वारा हत्या, बलात्कार और आग लगाने के बारे में बताया।

वाशिंगटन ने म्यांमार के इस सैन्य कार्यवाही को जातीय सफाई करार दिया, जिससे म्यांमार ने इनकार कर दिया है और कहा है कि उनके सुरक्षा बलों ने रोहिंग्या आतंकवादियों के खिलाफ एक वैध जवाबी अभियान चलाया था।

शेेख हसीना ने आगे कहा कि हमने उन्हें (रोहिंग्या) मानवता के लिए भोजन और आश्रय दिया है, इसलिए हम उन्हें नहीं निकाल सकते है। इन्हें वापस इनके देश लौटने में म्यांमार पर दबाव बनाने के लिए भारत की मदद की जरूरत है। 

पढ़े: बच्चों में पारिवारिक संस्कारों की जरूरत

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *