Breaking Newsफ़िल्मी दुनिया

यौन उत्पीड़न की कहानियों से गुस्से में रवीना

नई दिल्ली। एक्ट्रेस रवीना टंडन #MeToo अभियान में महिलाओं की कहानी सुनकर काफी दुखी और गुस्से में हैं। रवीना ने कहा कि भले ही वो कभी यौन उत्पीड़न का शिकार नहीं रहीं, लेकिन महिलाओं से गलत तरह से पेश आने की अनगिनत कहानियों से वो काफी गुस्से में हैं। उन्होंने कहा कि वो कभी यौन उत्पीड़न का शिकार नहीं रहीं, लेकिन उन्होंने प्रोफेशनल हैरेसमेंट झेला है, इसलिए वो इस पीड़ा को अच्छी तरह समझ सकती हैं। बता दें कि #MeToo अभियान के तहत बॉलीवुड से कई नामी सितारों का नाम इसमें सामने आया है।

‘यौन उत्पीड़न नहीं हुआ, लेकिन प्रोफेशनल हैरेसमेंट झेला है’

यौन उत्पीड़न की खबरों से दुखी रवीना टंडन ने पीटीआई से कहा, ‘मैं कभी यौन उत्पीड़न का शिकार नहीं रही, क्योंकि मैं उनमें से नहीं थी जो सहते रहते। मैं इसका जवाब देती, लेकिन मैं उन लड़कियों का दर्द समझ सकती हूं जो इससे गुजरी हैं। ये कहानियां दिल तोड़ लेने वाली हैं। ये मुझे गुस्सा दिलाती हैं। मेंने प्रोफेशनल हैरेसमेंट देखा है। कुछ फिल्में भी खोई हैं। कुछ महिला पत्रकार भी थे, जो अपनी मैगजीन और अखबारों में हमारी इज्जत उछालती थीं। जैसे हमें झूठा और न जानें क्या-क्या।’ रवीना ने कहा कि ये महिला पत्रकार हीरो की मदद करती थीं।

एक्टर्स की पत्नियों पर रवीना ने साधा था निशाना

रवीना ने कहा कि वो दौर उनके लिए काफी बुरा था। उनकी छवि खराब करने की कोशिश की गई थी। कुछ दिन पहले #MeToo पर बोलते हुए रवीना ने एक्टर्स की गर्लफ्रेंड्स और पत्नियों पर भी निशाना साधा था। इसपर रवीना ने कहा कि कभी-कभी महिलाओं की जलन हीरोइन को उनके ब्वॉयफ्रेंड या पति की फिल्म से निकलवा देती हैं। उन्होंने कहा, ‘और ये गलत है। ये भले सेक्सुअल हैरेसमेंट न हो, लेकिन ये प्रोफेशनल हैरेसमेंट है। कॉन्ट्रैक्ट में क्लॉज मजबूत होने जरूरी हैं। अगर कुछ खास लोगों को उन एक्ट्रेसेस के साथ काम करने में तकलीफ है, तो वो फिल्म से हट जाएं। एक लड़की का करियर क्यों बर्बाद करते हो?’

Tags
Show More

Leave a Reply

 Click this button or press Ctrl+G to toggle between multilang and English

Your email address will not be published. Required fields are marked *