धार्मिक खबरेंहटके ख़बर

रामायण से जुडी चीजें, स्थान आज भी मौजूद

रामायण की रोचक बातें

रामायण करोडों लोगों के लिए आस्था है, विश्वास है और जीवनशैली है। रामायण से जुडी चीजें, स्थान आज भी मौजूद हैं जो ये बताते हैं कि रामायण कोई कल्पना नहीं बल्कि यह एक ऐतिहासिक सत्य है। श्रीलंका में आज भी कुछ ऐसी जगह मौजूद है जिनका संबंध रामायण काल से माना जाता है। आज हम आपको ऐसी बातें बताएंगे जो यह बताते है रामायण तथ्य सही है।

त्रेतायुग में हुए उस महायुद्ध की आज भी सीता हरण, हनुमान, लक्ष्मण एवं विभीषण से जुडीं घटनाओं के कई साक्ष्य मौजूद है। श्रीलंका में आज भी आप उन जगहों को देख सकते हैं। भगवान राम और रावण के बीच हुए युद्ध के सभी चिन्ह आज भी श्री लंका में मौजूद है। समुद्र पर सेतु बांधना, पुष्पक विमान, अशोक वाटिका, देवी सीता का अग्नि परीक्षा स्थल आदि से जुडे सभी चिन्ह आज आसानी से देखे जा सकते हैं।

पुष्पक विमान स्थल…
सिन्हाला शहर में वेरागनटोटा नाम की एक जगह है, जिसका मतलब ‘विमान उतरने की जगह’ होता है। कहा जाता है कि यही वो जगह है, जहां पर लंकापति रावण ने अपना पुष्पक विमान उतरता था।

हनुमान के मिले पैरों के निशान…
श्रीलंका रामायण रिसर्च कमेटी के द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार, अबतक हुए अनुसंधान में हनुमान का श्रीलंका में उत्तर दिशा में जाने के पैरों के निशान मिले है। अनुसंधान के दौरान उस स्थान की भी तलाश पुरी कर ली गई है, जिस जगह पर राम व रावण के बीच भीषण व निर्णायक जंग हुई थी। श्रीलंका में आज भी उस युद्घ-स्थान को युद्घागनावा नाम से जाना जाता है जहां पर रावण का भगवान राम ने वध किया था।

अशोक वाटिका…
अशोक वाटिका वो जगह है जहां रावण ने माता सीता को रखा था। आज इस जगह को सेता एलीया के नाम से जाना जाता है, जो की नूवरा एलिया नामक जगह के पास स्थित है। यहां आज सीता का मंदिर है और पास ही एक झरना भी है। कहते हैं देवी सीता यहां स्नान किया करती थीं। इस झरने के आसपास की चट्टानों पर हनुमान जी के पैरों के निशान भी मिलते हैं। यहां वो पर्वत भी है जहां हनुमान जी ने पहली बार कदम रखा था, इसे पवाला मलाई कहते हैं। ये पर्वत लंकापुरा और अशोक वाटिका के बीच में है।

 

Tags
Show More

Leave a Reply

 Click this button or press Ctrl+G to toggle between multilang and English

Your email address will not be published. Required fields are marked *