हटके ख़बर

रिश्तों में कभी ना हो चीनी कम…

रिश्तों की नाजुक डोर को थामना जिम्मेदार का काम होता है। इस डोर को न तो ढील दें ओर न ही जरूरत से ज्यादा खीचें। दांपत्य जीवन से न सिर्फ चेहरेे पर ताजगी व सुकून का अहसास झलकता है, बल्कि व्यक्तित्व विकास, सोशल बिहेवियर और आत्मविश्वास में भी निखार आता है।

इसलिए जरूरी हो जाता है कि इस सुकून भरी जिन्दगी में किसी भी प्रकार की कोई हलचल न होने दें, बल्कि हर पल इसे और भी अधिक सफल बनाने व निखारने का भरसक प्रयास किया जाए। वो कैसे आइए जानें इन उपायोंं से….

वैवाहिक जीवन में पति-पत्नी का रिश्ता जायकेदार होता है। कभी-कभी जायका थोडा बिगड जाता है। एक-दूसरे को समझने की प्रक्रिया में कभी-कभी इसका टेस्ट तेज-कसैला सा हो सकता है। लेकिन कुछ टाइम के बाद इसमें अपनत्व की खुशबू आने लगती है। फिर तो हाल कुछ ऐसा होता है कि इस रिश्लेशन में बिना लाइफ की जीना बहुत ही दिक्कत का काम है।

जब हम किसी से प्यार करते हैं तो उसकी अच्छाइयों के साथ-साथ उसकी बुराइयों को भी अपनाना पडता है। जो आदत पसंद नहीं है, उसे बदलने की ज्यादा कोशिश भी ना करें जो जैसा है उसे वैसे ही अपनाये वरना लडाई-झगडे बढेंगे। कुछ बातों को बदलना जरूर भी हो, तो प्यार से काम लीजिए टोंट मार के नहीं, वरना सिर्फ दूरियां ही बढेंगी। अच्छाई देखें बुराई खुद ब खुद पीछे हट जायेगी। वैसे भी प्यार में बहुत ताकत होती है।

यह भी पढ़ें: रत्ना को शोभन के घर लौटने की उम्मीद

Tags
Show More

Leave a Reply

 Click this button or press Ctrl+G to toggle between multilang and English

Your email address will not be published. Required fields are marked *