Breaking NewsMoviesफ़िल्मी दुनिया

रोमांटिक फिल्में, सबसे ज्यादा पसंद हैं: कृति सेनन

इलेक्‍ट्रोनिक एंड टेली कम्‍युनिकेशन में बी.टेक. की डिग्री होल्‍डर, कृति सेनन के पिता चार्टर्ड अकाउंटेंट हैं और मां दिल्‍ली यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर हैं । पढाई पूरी करने पर कृति सेनन ने शौकिया तौर पर मॉडलिंग शुरू करते हुए कई उत्‍पादों की एड. फिल्‍मों में अपनी शानदार उपस्थिति दर्ज कराई थी । मॉडलिंग के कारण सुकुमार व्‍दारा निर्देशित तेलगू फिल्‍म ‘नेनोक्‍कडीने’ में अवसर मिला ।

उसके बाद उनकी खूबसूरती से प्रभावित होकर साजिद नडियाडवाला ने टाइगर श्रॉफ के अपोजिट उन्‍हैं ‘हीरोपंती’ (2014) में अवसर दिया, जो उनके कैरियर की पहली हिंदी फिल्‍म बनी । सब्‍बीर खान व्‍दारा निर्देशित इस फिल्‍म के लिए उन्‍हैं बेस्‍ट फीमेल डेब्‍यू का फिल्‍मफेयर अवार्ड मिला ।

उसके बाद कृति की ‘दिलवाले’ (2015), ‘राब्‍ता’ (2017) और ‘बरेली की बर्फी’ (2017) फिल्‍में आ चुकी हैं । इसमें कोई शक नहीं कि कृति अपने कैरियर को बेहद शानदार तरीके से मैनेज करने की कोशिश कर रही हैं । ‘बरेली की बर्फी’ (2017) में उन्‍होंने उत्‍तर प्रदेश की एक फन लविंग लड़की का किरदार निभाया । फिल्‍म तो ज्‍यादा नहीं चली, लेकिन कृति का काम दर्शकों को काफी पसंद आया । प्रस्‍तुत है कृति सेनन के साथ की गई बातचीत के मुख्‍य अंश :

बड़ा ताज्‍जुब होता है कि इंजीनियरिंग की पढाई करने वाली लड़की जब अचानक, सब कुछ बीच में छोड़कर, फिल्‍मों के लिए कोशिश शुरू कर दे ?

मैं, इसे किस्‍मत मानती हूं, क्‍योंकि मैने कभी जिंदगी में, एक्टिंग के बारे में नहीं सोचा था । डांस में अवश्‍य रूचि थी, मुझे । लेकिन, मुझे लगता था कि डांस में कैरियर नहीं बनाया जा सकता, इसलिए इंजीनियर बनना चाहती थी ।

फिर अचानक एक्टिंग में, आपकी दिलचस्‍पी किस तरह से पैदा हुई ?

जब, शुरू शुरू में, लोग कहते थे कि, मुझे मॉडल बनना चाहिए, तो मैं नाक मुंह चिढा लिया करती थी । मेरी शक्‍ल सूरत और हाइट-वाइट ठीक ठाक थी, और बार-बार लोगों के कहने का मुझ पर असर हुआ था । शायद पहली एड. फिल्‍म करने के साथ ही मैने एक्‍ट्रेस बनने के बारे में सोचना शुरू कर दिया था ।

क्‍या आपके मम्‍मी-डैडी ने आपकी ख्‍वाहिश का विरोध नहीं किया ?

बिलकुल नहीं, बल्कि वो, खुलकर मेरे सपोर्ट में आ गये । इसकी एक वजह शायद यह भी थी कि मेरी मम्‍मी जो करना चाहती थीं, वो नहीं कर पाईं, वह शायद अपने सपनों को, मेरे साथ पूरे करना चाहती थीं । और डैडी, मां के कहने सुनने में थे । इसलिए मुझे दिक्‍कत नहीं आई ।

आउट साइडर्स को फिल्‍मों से ताल्‍लुक रखने वालों के मुकाबले, इंडस्‍ट्री में जगह बनाने में कितनी दिक्‍कतें आती हैं ?

मुझे लगता है कि एक, दो या तीन फिल्‍मों तक उनके लिए काम पाना आसान होता है और आउट साइडर्स को पहली फिल्‍म मिलना मुश्किल होता है । बस एक यही अंतर नजर आता है, वर्ना बाद में दोनों एक ही ट्रेक पर आ जाते हैं, फिर कोई भी हो उसका काम ही उसे काम दिलाता है ।

फिल्‍म इंडस्‍ट्री में आपको कितना कंपटीशन महसूस होता है ?

किस फील्‍ड में कंपटीशन नहीं है । कहीं भी चले जाओ, हर जगह कंपटीशन है । बस जरूरत है तो उस टफ कंपटीशन का अच्‍छे तरह से सामना करने की ।

एक्टिंग के अलावा आपको और किस किस चीज का शौक है ?

मुझे मूवी देखना बहुत पसंद है । कॉलेज के दिनों में मैं कविताएं लिखा करती थी । अपने इमोशंस को पेपर पर उतारना मुझे बहुत अच्‍छा लगता है । लेकिन अब इसके लिए वक्‍त नहीं मिल पाता । जब भी फुर्सत मिलेगी मैं ये काम वापस करना चाहूंगी । मैं क्‍यूजिकल इंस्‍ट्रूमेंट बजाना भी सीखना चाहती हूं ।

आपको अपनी कौनसी आदत सबसे ज्‍यादा बुरी लगती है ?

मुझे लगता है कि मेरे अंदर सिर्फ एक ही बुरी आदत है कि, मैं कोई भी चीज शुरू करने के बाद उसे कभी पूरा नहीं करती । मैने जब कभी कोई चीज सीखनी शुरू की, उसे बीच में ही छोड़ दिया । जब मैं बच्‍ची थी, तो मैं ड्राइंग और पेंटिंग में अच्‍छी थी, लेकिन वो मैने छोड़ दी । मैं बचपन से ऐसी रही हूं, लेकिन अब चाहती हूं कि जो चीज एक बार शुरू करूं, उसे पूरा करके ही दम लूं ।

एक दर्शक के रूप में आपको किस तरह की फिल्‍में ज्‍यादा पसंद हैं ?

मुझे रोमांटिक फिल्‍में सबसे ज्‍यादा पसंद हैं । लेकिन हॉरर फिल्‍में मुझे बिलकुल पसंद नहीं है । हॉरर फिल्‍में देखना, मेरे लिए टॉर्चर की तरह है, जब कभी मुझे कोई भूत वाली फिल्‍म देखनी पड़ी, तब डरावने सीन्‍स पर मैं अपनी आंखें बंद कर लेती हूं और उसके बाद अकेले सोना पड़े तो और ज्‍यादा प्रोब्‍लम हो जाती है ।

आपकी ऐसी कोई ख्‍वाहिश जो अब तक पूरी नहीं हो सकी है ?

मेरी बस एक ही ख्‍वाहिश है कि, जब कभी मौका मिले, मैं मधुबाला की बायोपिक करना चाहूंगी । वो बहुत टेलेंटेड और खूबसूरत एक्‍ट्रेस थीं । उनकी जर्नी भी ऐसी थी, जिस पर पूरी फिल्‍म बन सकती है । मुझे ज्‍यादा पता नहीं है, उनके बारे में लेकिन मैं जानना चाहती हूं ।

 

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *