Breaking Newsदेश

वंशवाद, जातिवाद की राजनीति की 2019 में विदाई : अमित शाह

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने रविवार को पार्टी के दिल्ली प्रदेश के राज्य स्तरीय बूथ सम्मेलन को संबोधित करते हुए आगामी लोकसभा चुनावों के लिए अभी से तैयारियों में जुट जाने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि 2019 का चुनाव नरेन्द्र मोदी को फिर से प्रधानमंत्री बनाने और भाजपा की जीत के साथ-साथ वंशवाद, जातिवाद और तुष्टिकरण की राजनीति करने वालों की अंतिम विदाई का चुनाव है। शाह ने कांग्रेस समेत विपक्षी दलों पर जमकर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस और आम आदमी पार्टी (आप) वादा तो पूरा नहीं करते बल्कि नए-नए वादे करते रहते हैं।

इंदिरा गांधी स्टेडियम में मौजूद भाजपा के 16 हजार से ज्यादा बूथों से आए बूथ अध्यक्ष और प्रभारियों की भीड़ से उत्साहित भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि यह परिचायक है कि पार्टी का बूथ का संगठन नीचे तक पहुंचा है। उन्होंने कहा कि देश के हर प्रदेश में लोकसभा और संभाग स्तर पर आने वाले समय में ऐसे सम्मेलन होंगे। इसका श्रीगणेश आज दिल्ली की सात लोकसभा सीटों के इस सम्मेलन से हो गया।

अमित शाह ने कहा कि भाजपा सरकार राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) लेकर आई, जिसके माध्यम से देश में घुसपैठियों को चिन्हित करने की व्यवस्था है। अकेले असम में 40 लाख घुसपैठियों की पहचान की गई थी। किंतु इसको लेकर कांग्रेस और कुछ अन्य विपक्षी दल सवाल उठा रहे हैं।

उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से सवाल किया कि उन्हें घुसपैठियों की चिंता है पर उनके द्वारा बम धमाकों में मारे जाने वाले भारतीय नागरिकों के मानवाधिकार पर वह क्यों नहीं बोलते। उन्होंने कांग्रेस पर हमला जारी रखते हुए कहा कि 1984 से लेकर अब तक सिखों के नरसंहार करने वालों को सजा क्यों नहीं हुई थी।

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *