Breaking Newsकोलकाता

सत्ता में आये तो पश्चिम बंगाल से घुसपैठियों को खदेड़ेगी भाजपा

  • 2
    Shares

कोलकाताः अब बंगाल में भी एनआरसी की सूची तैयार करने की मांग भाजपना ने उठायी है. बंगाल में नागरिकों की सूची प्रकाशित करने की मांग को लेकर भाजपा सड़कों पर उतरी है. इस मांग के समर्थन में हाजरा मोड़ पर भाजपा नेतृत्व की ओर से पथावरोध किया गया. वहां भाजपा कार्यकर्ताआें द्वारा धरना और विरोध प्रदर्शन किया गया.

भाजपा के जुलूस में लॉकेट चट्टोपाध्याय भी उपस्थित थी. उन्होंने कहा कि बांग्लादेश से अवैध तरीके से आकर काफी संख्या में लोग डेरा जमाया है. उनके ही वोटों से तृणमूल विधायक सांसद चुनाव जीतते हैं. फर्जी कागजात बना वे बंगाल की नागरिकता का आनंद ले रहे हैं लॉकेट चटर्जी ने ऐसा दावा किया.

उन्होंने स्पष्ट कहा कि एक मात्र नागरिकों की सूची तैयार होने पर ही असली तस्वीर बाहर निकल कर सामने आयेगी. साथ यह भी सिद्ध हो जायेगा कि कौन वैध नागरिक है और कोैन अवैध. उल्लेखनीय है सोमवार को एनआरसी सूची का नमूना असम में प्रकाशित किया गया. नागरिकों की सूची में शामिल कराने के लिए लगभग ३ करोड़ से  अधिक लोगों न आवेदन किया था. इसमें लगभग ढाई करोड़ लोगों ने नाम आये हैं.

लगभग ४० लाख बंगालियों का नाम काट दिया गया. इसके बाद नये सिरे से  एनआरसी सिर दर्द का कारण बन गया. पश्‍चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का आरोप है कि चुनाव का अंक बना कर ही भाजपा विभेद की राजनीति कर रही है. बहरहाल एनआरसी को लेकर राष्ट्रीय राजनीति गरमा गयी है.

इस विषय में लॉकेट चट्टोपाध्याय ने साफ कहा कि झूठा आरोप लगा कर लोगों को मुख्यमंत्री लोगों को बरगला रही है. बंगाली भावनाआें के साथ तृणमूल खेल खेल रही है. उकसावामूलक राजनीति की जा रही है. विदेशी व बंगाली को नागरिक सूची में अलग किया गया है. जो काफी जरुरी है.

जो अवैधरूप से बांग्लादेश से आये हैं वे इस देश में शरणार्थी है. उनके अवैध कागजात को दिखाकर इस देश में रखने की कोशिशों का भाजपा समर्थन नहीं करती. परंतु रोहिग्या की तरह उन्हें भी ममता बनर्जी सहायता कर रही है. भाजपा सत्ता में आयी तो बंगाल से अवैध घुसपैठियों को खदेड़ा जायेगा.

लॉकेट ने कहा कि आवश्यकता पड़ी तो पश्‍चिम बंगाल में नागरिकों की सूची प्रकाशित करने की मांग पर केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह से भाजपा नेता मुलाकात करेंगे. हालांकि जिनके पास वैध कागजात हैं उन्हें इस देश में रहने मेंं कोई बाधा नहीं है. उल्लेखनीय है कि नागरिक सूची से नाम काटने को लेकर सियालदह में मतुआ संप्रदाय के लोगों ने अवरोध किया. उस अवरोध को भाजपा महिला नेत्री ने अनुचित करार दिया.

उल्लेखनीय है कि अन्य राज्यों में बंगालियों को परिस्थिति का हाल जानने बृहस्पतिवार को आठ सदस्यों का एक प्रतिनिधि दल असम गया था. परंतु उस प्रतिनिधि दल को शिलचल हवाई अड्डे पर ही रोक दिया गया. इस विषय में लॉकेट चटर्जी ने कहा कि असम में अस्थिरता पैदा करने की तृणमूल कोशिश कर रही है. तृणमूल का आरोप है कि शिलचल हवाई अड्डे पर तृणमूल सांसदों की पिटाई की गयी. उसके परिपेक्षमें भाजपा के राज्य अध्यक्ष दिलीप घोष ने कह ा कि वे वहां नाटक करने गये हैं. असम पुलिस ने जो किया वह ठीक किया. 

 

Tags
Show More

Did You Know ?

Mind Test

Leave a Reply

 Click this button or press Ctrl+G to toggle between multilang and English

Your email address will not be published. Required fields are marked *