Breaking Newsदेश

सेंगर के खिलाफ मिले अहम सबूत

पुलिस की भी लापरवाही

लखनऊ। उन्नाव गैंगरेप मामले की जांच कर रही सीबीआई ने मुख्य आरोपी बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की संलिप्तता की पुष्टि कर दी है। सीबीआई ने कहा है कि उनहें ऐसे सबूत मिले हैं, जिसमें सेंग के खिलाफ अहम सबूत मिले हैं। इसके अलावा मामले में पुलिस द्वारा शुरूआत में लापरवाही बरते जाने के भी सबूत मिले है। 

एक रिपोर्ट के मुताबिक सीबीआई ने पुष्टि कर दी है कि कुलदीप सिंह सेंगर ने बीते साल 4 जून को यूपी के माखी गांव में पीडि़त युवती से बलात्कार किया था और शशि सिंह नाम का शख्स रूम के बाहर पहरेदारी कर रहा था।

सूत्रों के मुताबिक पीडि़ता ने गैंगरेप के मामले में बंगारमउ से विधायक कुलदीप सेंगर और उनके सहयोगियों को बार-बार नाम लिया था। लेकिन स्थानीय पुलिस ने आरोपी विधायक और उसके सहयोगियों को बचाते हुए 20 जून को दर्ज एफआईआर और दायर आरोपपत्र से उनका नाम गायब कर दिया।

मामले की जांच कर रही केंद्रीय एजेंसी सीबीआई ने सीआरपीसी धारा 164 के तहत पीडि़ता का बयान मजिस्ट्रेट के सामने दर्ज करवाया है। सीआरपीसी धारा 164 के तहत दर्ज बयान कोर्ट में सबूत के तौर पर पेश किया जा सकता है।

इस मामले को लेकर सीबीआई के एक अधिकारी ने कहा कि पुलिस ने पीडि़ता के मेडिकल जांच में भी देरी की और उसके प्राइवेट पार्ट और कपड़ों पर लगे धब्बे को भी जांच के लिए फोरेंसिक लैब में नहीं भेजा था। उन्होंने कहा, यह सब जानबूझकर और आरोपी के साथ मिलकर किया गया था।

यह भी पढें: बंगाल में नहीं खिलेगा कमल : शुभेन्दु

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *