Breaking Newsदेश

हमे तो लूट लिया मिलकर हुस्न वालों ने !

नई दिल्ली। अगर आपकों कोई लड़की लगातार कॉल करके आपसे दोस्ती करने की बात करे तो सावधान हो जाये,आप लूट के शिकार हो सकते है। जी हां राजधानी में एक ऐसा ही महिला गिरोह सक्रिय है, जो पहले फोन कर दोस्ती करती है, फिर मुलाकात करके लूट लेती है। 
पश्चिमी जिले के राजौरी गार्डन थाना पुलिस ने हनी ट्रैप में फंसाकर लाखों रुपये की लूट करने के मामले में एक युवती को गिरफ्तार किया है।
गैंग में चार महिलाएं और दो पुरूष शामिल हैं।

गैंग की महिला सदस्य व्हाट्सएप व फोन कॉल के जरिए लोगों को अपने जाल में फंसाकर वारदात को अंजाम देते थे। फिलहाल पुलिस फरार आरोपितों की गिरफ्तारी का प्रयास कर रही है। जानकारी के अनुसार अजय (33) (बदला हुआ नाम) परिवार के साथ आदर्श नगर इलाके में रहते है। अजय का निजी कारोबार है। पुलिस को दी शिकायत में अजय ने बताया कि कुछ दिन पहले उसके मोबाइल पर एक अंजान नम्बर से कॉल आया।

कॉलर कोई लड़की थी। लड़की ने अजय से बात करने की इच्छा जताई। जिसपर अजय ने लड़की को बात करने से मना कर दिया। बावजूद इसके लड़की लगाताल कॉल करती रही। इधर पीड़ित अजय ने अपने दोस्त से लड़की की बात करवाई और उसका नम्बर दे दिया। सुबह दो दिन पूर्व अजय के दोस्त राहुल ने उसे कहा कि लड़की ने मिलने के लिये राजौरी गार्डन बुलाया है। दोनों कार से राजौरी गार्डन पहुंचे। 

मौज-मस्ती की बात कहकर लूटे सात लाख रुपये 
शिकायतकर्ता अजय ने बताया कि राजौरी गार्डन में उन्हें एक लड़की मिली, जिसने अपना नाम कविता जैन बताया। बात-चीत के दौरान कविता ने अपनी एक सहेली को बुला लिया और कहा कि उनका घर पास में ही सुभाष नगर में है। वहां चलकर पार्टी करते है। दोनों पीड़ित युवतियों के साथ उनके घर चले गये।

शिकायतकर्ता अजय के अनुसार घर में जाते ही दोनों युवतियां उनके कपड़े निकालने लगी।  इसी बीच चार महिलाये कमरे में जबरन घुस आई और गाली-गलौच करने लगी। महिलाओं ने पुलिस को कॉल करने की धमकी दी। इधर पीड़ित कुछ समझ पाते उससे पहले दो युवक और कमरे में आ गये और पीड़ितों के साथ मारपीट करने लगे। अजय को रेप केस में फंसाने की धमकी देकर उससे 20 लाख रुपेय की मांग की। 

दोस्त को बनाया बंधक 
पीड़ित अजय ने इतने रुपये न होने की बात कहीं। आरोपितों ने दोबारा दोनों को पीटना शुरू किया और अंत में सात लाख रुपये में बात तय हुई। पीड़ित अजय ने घर से रुपये लाने के लिये कहा। जिसपर आरोपितों ने कहा कि रुपये मिल जायेंगे तब उसके दोस्त को वह छोड़ देंगे। अजय के साथ दो महिलाये और एक आरोपित उसके घर गये।

पीड़ित ने घर से सात लाख रुपये निकाल कर आरोपितों को दिया। उसके बाद आरोपितों ने उसके दोस्त राहुल को भी छोड़ दिया। उसके बाद पीड़ितों ने मामले की सूचना राजौरी गार्डन पुलिस को दी। वहीं पश्चिमी जिले की डीसीपी मोनिका भारद्वाज के अनुसार पुलिस ने पीड़ितों के बयान पर केस दर्ज कर बीती देर रात एक युवती को गिरफ्तार किया है जिससे पूछताछ कर उसके अन्य साथियों की तलाश में पुलिस छापेमारी कर रही हैं।

Tags
Show More

Leave a Reply

 Click this button or press Ctrl+G to toggle between multilang and English

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button