Breaking Newsदेश

उत्तर भारत में कोरोना यू-टर्न

कोरोना महामारी के चलते कुछ राज्‍यों को मजबूरन प्रतिबंध लगाने पड़ रहे हैं। शुक्रवार को हरियाणा और राजस्‍थान में डेली केसेज अबतक के सबसे ऊंचे स्‍तर पर पहुंच गए। मध्‍य और उत्‍तर भारत के कई राज्‍यों में मामले बढ़े हैं जिसके चलते पूरी तरह लॉकडाउन तो नहीं, लेकिन कहीं-कहीं पाबंदियां फिर से लगाई गई हैं। हरियाणा में 30 नवंबर तक स्‍कूल बंद कर दिए गए हैं। मध्‍य प्रदेश के पांच जिलों में नाइट लॉकडाउन रहेगा।

गुजरात में पूरी तरह नाइट कर्फ्यू को अहमदाबाद, सूरत, वडोदरा और राजकोट में भी लागू कर दिया गया है। राजस्‍थान के 33 जिलों में धारा 144 लगा दी गई है। महाराष्‍ट्र सरकार भी दिल्‍ली से आने-जाने वाली फ्लाइट्स और ट्रेनों की लिमिट तय करने पर विचार कर रही है। उत्‍तर प्रदेश के स्‍वास्‍थ्‍य विभाग ने शुक्रवार को कोविड की दूसरी वेव का अलर्ट जारी किया। लोगों को सलाह दी गई है कि वे घरों से बाहर निकलने से परहेज करें।

नवंबर के महीने में जहां देश के बाकी हिस्‍सों में कोविड के ऐक्टिव केस घटे हैं, उत्‍तर भारत में इसका उल्‍टा ट्रेंड देखने को मिला है। दिल्‍ली, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, पंजाब, चंडीगढ़, राजस्‍थान और मध्‍य प्रदेश में ऐक्टिव मामलों में बढ़त देखने को मिली है। इसके मुकाबले, महाराष्‍ट्र, कर्नाटक, केरल, पश्चिम बंगाल में ऐक्टिव केसेज घटे।

शुक्रवार को 48 दिन बाद पहली बार भारत में कोविड-19 के ऐक्टिव केसेज में इजाफा हुआ। इससे पहले 48 दिन तक लगातार ऐक्टिव केसेज में गिरावट दर्ज की गई थी। यह एक संकेत है कि देश में त्‍योहारों के बाद कोरोना संक्रमण में बढ़त देखने को मिल रही है। एक्‍सपर्ट्स के अनुसार, उत्‍तर भारत में ठंड की शुरुआत के साथ मामले और बढ़ सकते हैं। दिल्‍ली, गुजरात, हरियाणा, मध्‍य प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, छत्‍तीसगढ़ और राजस्‍थान में केसेज बढ़ रहे हैं। कई अनुमानों के अनुसार अगर लापरवाही बरती गई तो कोविड मामले तेजी से बढ़ सकते हैं। एक नैशनल कोविड-19 सुपर मॉडल कमिटी का अनुमान था कि अगर त्‍योहारों के मौसम में सावधानी नहीं बरती जाती तो भारत में डेली 26 लाख केसेज तक आ सकते हैं।

 

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button