Breaking Newsदेश

चीन को लगातार टेंशन दे रहा भारत

नई दिल्ली। भारत ने  सतह से सतह पर मार करने वाली परमाणु क्षमता वाली बैलिस्टिक ‘शौर्य मिसाइल’ के नए संस्करण का सफल परीक्षण ओडिशा तट पर किया, जो लगभग 800 किलोमीटर की दूरी तक लक्ष्य को मार सकती है। यह मिसाइल एक टन तक के पेलोड के साथ वॉरहेड ले जा सकती है।

इसका पहला परीक्षण 12 नवम्बर, 2008 को चांदीपुर इंटीग्रेटेड टेस्ट रेंज में निर्मित परिसर-3 से किया गया था। उड़ान भरने पर लगभग 50 किमी. की ऊंचाई तक पहुंचने के बाद यह मिसाइल हाइपरसोनिक क्रूज मिसाइल की तरह उड़ने लगती है। लक्ष्य क्षेत्र में पहुंचने के बाद 20 से 30 मीटर की दूरी पर युद्धाभ्यास करने के बाद सटीक हमला करती है।

शौर्य मिसाइल सतह से सतह पर 800 किमी. की दूरी तक मार करने में सक्षम है, जिसे भारतीय रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन ने भारतीय सशस्त्र बलों के उपयोग के लिए विकसित किया है। यह एक टन परंपरागत या परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम है। शौर्य प्रक्षेपास्त्र भारत को अद्वितीय प्रहार करने की महत्वपूर्ण क्षमता देता है। शौर्य प्रक्षेपास्त्र को जल के नीचे मार करने वाली सागारिका प्रक्षेपास्त्र का भूमि संस्करण माना जाता रहा है लेकिन डीआरडीओ के अधिकारियों ने सागारिका कार्यक्रम के साथ इसके संबंध से इनकार किया है।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button