Notice: Use of undefined constant REQUEST_URI - assumed 'REQUEST_URI' in /home/bennetwork/public_html/wp-content/themes/jannah/functions.php on line 73
पाकिस्‍तान: मिलने लगे तख्तापलट के संकेत – BEN Network – भारत एक नजर
Breaking Newsविदेश

पाकिस्‍तान: मिलने लगे तख्तापलट के संकेत

कराची। पहले से ही अर्थव्‍यवस्‍था की बुरी मार झेल रहा पाकिस्‍तान, जम्‍मू कश्‍मीर से आर्टिकल 370 हटने के बाद और ज्‍यादा लाचार हो गया है। प्रधानमंत्री इमरान खान अब तक समझ नहीं पा रहे हैं कि क्‍या किया जाए तो दूसरी तरफ कराची में पाकिस्‍तान आर्मी के चीफ जनरल कमर जावेद बाजवा प्राइवेट मीटिंग्‍स कर रहे हैं। पाकिस्‍तान में जहां मिलिट्री पहले ही सरकार की तुलना में कहीं ज्‍यादा ताकतवर है, वहां पर अब लगता है कि बाजवा ड्राइविंग सीट पर आने को तैयार हो रहे हैं। ब्‍लूमबर्ग की रिपोर्ट के मुताबिक बाजवा ने देश की अर्थव्‍यवस्‍था को आगे बढ़ाने के उपायों पर चर्चा करने के लिए यह मीटिंग की थी। लेकिन कुछ लोग इन मीटिंग्‍स को ‘साफ्ट कूप’ के तौर पर बता रहे हैं।

रावलपिंडी में जनरल बाजवा की ‘बिजनेस मीटिंग’

ब्‍लूमबर्ग की रिपोर्ट में कहा गया है कि इस तरह की तीन मीटिंग्‍स हुई हैं और सभी कराची में मिलिट्री ऑफिसेज में हुईं। इन ऑफिसेज के बाहर सुरक्षा किसी किले से कम नहीं थी। कराची, पाक की आर्थिक राजधानी है। कराची के अलावा पाक सेना के हेडक्‍वार्टर रावलपिंडी में भी बाजवा ने टॉप बिजनेस लीडर्स से मुलाकात की है। मीटिंग में जनरल बाजवा ने बिजनेस लीडर्स से पूछा कि देश की अर्थव्‍यवस्‍था को कैसे सुधारा जाए। कुछ मुलाकातों में देश के हालातों को लेकर कुछ फैसले भी हुए। सूत्रों की मानें तो जनरल बाजवा देश के हालातों को लेकर खासे परेशान थे। पाकिस्‍तान आर्मी के प्रवक्‍ता की ओर से इस पर कोई भी टिप्‍पणी करने से इनकार कर दिया गया है।

अब बाजवा बचाएंगे इमरान को

पिछले वर्ष जुलाई में चुनाव हुए थे और हाल ही में इमरान खान की रेटिंग उस स्‍तर पर पहुंच गई है जहां कोई उन्‍हें पसंद नहीं करता है। पीएम की पापुलैरिटी पिछले वर्ष 64 प्रतिशत पर थी और इस बार इसमें 18 प्रतिशत की गिरावट हुई है। अगस्‍त माह में आई एक रिपोर्ट में इमरान की पापुलैरिटी 46 प्रतिशत पर है। लाहौर की सेंट्रल पंजाब यूनिवर्सिटी में अंतरराष्‍ट्रीय संबंधों और राजनीति से जुड़े विभाग के मुखिया राशिद अहमद खान की मानें तो किसी भी रेटिंग में गिरावट इमरान के लिए बिल्‍कुल भी चिंता का विषय नहीं है क्‍योंकि उन्‍हें सेना का सपोर्ट मिला हुआ है। अब सिर्फ सेना और जनरल बाजवा ही उन्‍हें बचा सकते हैं।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button