Uncategorized

मोदी ने बेलूर मठ में रात भर रुकने पर कहा

कोलकाता, 12 जनवरी | प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को बेलूर मठ में सुबह प्रार्थना में भाग लिया और संतों व सिद्ध पुरुषों के साथ बातचीत की। उन्होंने स्वामी विवेकानंद की 157वीं जयंती पर बेलूर मठ स्थित स्वामी विवेकानंद मंदिर में ध्यान लगाया। बेलूर मठ, रामकृष्ण मठ व रामकृष्ण मिशन का वैश्विक मुख्यालय है। बेलूर मठ में रात भर ठहरने वाले मोदी पहले प्रधानमंत्री हैं।

मोदी ने बाद में बेलूर मठ में अपने रात भर ठहरने को लेकर कहा कि यह ‘घर लौटने जैसा था।’

प्रधानमंत्री मोदी, स्वामी विवेकानंद द्वारा हावड़ा जिले में स्थापित बेलूर मठ शनिवार की शाम को पहुंचे और अंतर्राष्ट्रीय अतिथि गृह में शनिवार की रात रुके। रविवार की सुबह उन्होंने मंगल आरती में भाग लिया।

इसके बाद उन्होंने वरिष्ठ मठवासियों से मुलाकात की और उनके साथ प्रार्थना की। इसके बाद वह स्वामी विवेकानंद मंदिर गए और वहां ध्यान किया।

मोदी ने प्रधानमंत्री बनने के लगभग एक साल बाद 10 मई 2015 को मठ के अपने पिछले दौरे के दौरान योगी व दार्शनिक के शयन कक्ष में ध्यान लगाया था।

प्रधानमंत्री अपनी युवावस्था में रामकृष्ण मिशन का एक तपस्वी बनना चाहते थे, लेकिन इसके पूर्व अध्यक्ष स्वामी अटवस्थानंद से इसके बजाय उन्हें जन सेवा पर ध्यान केंद्रित करने के लिए कहा।

बाद में मठ के परिसर में युवाओं को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि स्वामी विवेकानंद के विचार अभी भी प्रासंगिक हैं।

उन्होंने कहा कि देश के युवाओं से दुनिया को ढेर सारी उम्मीदें हैं। उन्होंने कहा, “अगर आप युवा है तो आप चुनौतियों से निपटते हैं, भागते नहीं हैं।”

स्वामी विवेकानंद के जयंती को राष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में मानाया जाता है।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button