हटके ख़बर

मौसम में बदलाव के साथ ही होने लगती हैं गले में खराश

इस कोरोना काल में सभी अपनी सेहत को लेकर बेहद सजग हैं कि कहीं मौसमी बीमारियां उन्हें अपना शिकार ना बना लें। लेकिन जैसे-जैसे मौसम में बदलाव आता हैं शरीरी में कुछ समस्याएं आने लगती हैं। ऐसी ही एक समस्या हैं गले में खराश की जो तकलीफदेह होती हैं। इसे बढ़ने से पहले ही उचित घरेलू नुस्खों की मदद लेकर आराम पाया जा सकता हैं। आज इस कड़ी में हम आपको कुछ ऐसे कारगर और आसान उपायों के बारे में बताने जा रहे हैं जो मौसम में बदलाव के साथ होने वाली गले में खराश को दूर करने का काम करेंगे।

– गले की खराश में हर्बल टी यानी आयुर्वेदिक चाय बहुत ही कारगर उपाय है। तुलसी, लौंग, काली मिर्च और अदरक वाली चाय का सेवन करने से खराश और गले से जुड़ी अन्य समस्या से राहत मिलती है। गर्म तासीर वाली इन चीजों में एंटी बैक्टीरियल गुण भी पाए जाते हैं।

– गले में खराश हो तो आप लहसुन की कली भी चबा सकते हैं। ऐसा करने से आराम मिलता है। दरअसल, लहसुन में मौजूद एंटी इंफ्लामेट्री और एंटी बैक्टीरियल गुण गले की खराश दूर करते हैं। लहसुन की कली को मुंह में रखकर केवल चूसने से भी राहत मिलती है।

– गले की खराश में गुनगुने पानी से गरारे करने की सलाह दी जाती है। गुनगुने पानी में आप नमक भी मिला सकते हैं। नमक मिले गुनगुने पानी से गरारे करने से गले की सिकाई हो जाती है और खराश में राहत मिलती है। गर्म पानी का भाप लेना भी फायदेमंद होता है।

गले में खराश होने पर काली मिर्च का सेवन भी फायदेमंद साबित होता है। आप काली मिर्च को बताशे के अंदर रखकर चबा लें। इसके अलावा आप काली मिर्च और मिश्री को भी चबाकर खा सकते हैं। ऐसा करने से आपके गले में खराश कम हो जाएगी।

– दूध और हल्दी को मिलाकर पीने के फायदों के बारे में तो आपने जरूर सुना होगा। सर्दी-जुकाम में आराम देने के साथ ही यह हमारी इम्यूनिटी बढ़ाने में भी मददगार है। तभी तो इसे गोल्डन मिल्क भी कहा जाता है। दूध में हल्दी डालकर पीने से गले की खराश में भी आराम मिलता है।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button